Bansgaon Sandesh

Big Breaking : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों नए कृषि कानून को वापस लिया , जाने प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के संबोधन में क्या कहा

Big Breaking : BANSGAON SANDESH : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों नए कृषि कानून को वापस लिया , जाने प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के संबोधन में क्या कहा?

 

नई दिल्ली। बाँसगाँव सन्देश। गुरु नानक जी के प्रकाश पर्व के अवसर पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को संबोधित कर रहें हैं। इसके बाद सिंचाई परियोजनाओं का लोकार्पण करने उत्तर प्रदेश के महोबा जाएंगे। फिर शाम को वे झांसी में राष्ट्र रक्षा समर्पण पर्व में सम्मिलित होंगे। जाने से पहले वे सुबह 9 बजे राष्ट्र के नाम संदेश में कहा कि आज देव दीपावली का पावन पर्व है और गुरू नानक देव जी का भी पवित्र प्रकाश पर्व है। मैं दुनिया के सभी लोगों को और सभी देशवासियों को इस पावन पर्व पर हार्दिक बधाई देता हूं।

 

मैंने अपने 5 दशक के सार्वजनिक जीवन में किसानों की परेशानियों और चुनौतियों को बहुत करीब से देखा और महसूस किया है। जब देश ने मुझे 2014 में प्रधानमंत्री के रूप में सेवा का अवसर दिया तो हमने कृषि विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता दी।

 

देश के छोटे किसानों की चुनौतियों को दूर करने के लिए हमने बीज, बीमा, बाजार और बचत, इन सभी पर चौतरफा काम किया। सरकार ने अच्छी गुणवत्ता के बीज के साथ ही किसानों को नीम कोटेड यूरिया, स्वायल हेल्थ कार्ड, माइक्रो इरिगेशन जैसी सुविधाओं से भी जोड़ा। आज मैं सभी को बताना चाहता हूं कि हमने तीनों कृषि कानून को निरस्त करने का फ़ैसला किया है।

आपदा के समय ज़्यादा से ज़्यादा किसानों को आसानी से मुआवज़ा मिल सकें इसके लिए पूराने नियम बदले हैं। बीते 4 सालों में एक लाख करोड़ रुपए से ज़्यादा का मुआवज़ा हमारे किसानों को मिला है। हमने MSP बढ़ाई और रिकॉर्ड सरकारी खरीद केंद्र भी बनाए। हमारी सरकार द्वारा की गई उपज की खरीद ने पिछले दशकों के रिकॉर्ड तोड़ दिए। किसानों को उनकी मेहनत के बदले उपज की सही कीमत मिले, इसके लिए भी कदम उठाए। हमने ग्रामीण बाजार के बुनियादी ढांचा को मजबूत किया।

 

आज मैं आपको और पूरे देश को बताने आया हूं कि हमने तीनों कृषि क़ानूनों को रद्द करने का फ़ैसला किया है। मैं सभी आंदोलन किसान साथियों से आग्रह कर रहा हूं कि अब आप अपने-अपने घर और खेतों की तरफ़ लौटें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने त्वरित प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आज से तीनों कृषि क़ानून इस देश में नहीं रहेंगे। एक बड़ा संदेश देश में गया है कि देश एकजुट हो तो कोई भी फैसला बदला जा सकता है। चुनाव में हार के डर से प्रधानमंत्री ने तीनों कृषि क़ानूनों का वापस लिया है। किसानों की जीत देशवासियों की जीत है।

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों कृषि क़ानूनों को वापस लेने की घोषणा की है। सभी किसानों को इसका स्वागत करना चाहिए, अब उन्हें अपने धरने समाप्त कर देने चाहिए: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज,अंबाला
किसान नेता राकेश टिकैत का कृषि कानूनों के संबंध में ट्वीट

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

गोरखपुर

डॉ. राजेश कुमार यादव के दिशानिर्देश में पूजा सिंह , चांदनी सिंह , और सुरभि चौबे ने पीएचडी कार्य पूर्ण किया, जाने किसको मिली उपाधि ?

डॉ राजेश कुमार यादव (एसोसिएट प्रोफेसर एंड हेड, रसायन एवं पर्यावरण विज्ञान विभाग, मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, गोरखपुर) के मार्गदर्शन में चांदनी सिंह, सुरभि

Latest News : कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा में लगी आस्था की डुबकियां और मनाया देव दीपावली, जाने 1 रोचक तत्व की क्यों मनाई जाती है देव दीपावली?

Latest News : कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा में लगी आस्था की डुबकियां और मनाया देव दीपावली, जाने 1 रोचक तत्व की क्यों मनाई जाती है देव दीपावली?

Latest News : कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान व देव दीपावली के उपलक्ष्य में आज घाट कला कोठी प्राचीन श्री हनुमानजी मंदिर पर 5001 दीपदान और

The foundation stone of Veda Pathshala and Gaushala, laid in Malihabad, Lucknow, will be cherished by the youth of religion and culture.

Latest News : Lucknow के मलिहाबाद में रखी गई वेद पाठशाला और गौशाला का आधारशिला, धर्म और संस्कृति को युवाओं को सँजोना होगा

Lucknow मलिहाबाद के जेहटा काकोरी में 100 वर्ष प्राचीन श्री ठाकुर जी महाराज मंदिर के तत्वाधान में श्री विश्वनाथ गौशाला एवं वेद पाठशाला की आधारशिला

देवरिया

कुशीनगर