Bansgaon Sandesh

IIIM Jammu ने औषधीय पौधे से जोड़ों के दर्द के लिए बनाया कैप्सूल, तकनीक मुंबई आधारित फार्मा कंपनी को दी

IIIM Jammu ने औषधीय पौधे से जोड़ों के दर्द के लिए बनाया कैप्सूल, तकनीक मुंबई आधारित फार्मा कंपनी को दी

इंडियन इंस्टीट्यूट आफ इंटीग्रेटिव मेडिसिन (आइआइआइएम) जम्मू ने औषधीय पौधे बरजीनिया कलियाटा (जिसे भारत में आम तौर पर पत्थर फोर बूटी) भी कहा जाता है, से कैप्सूल विकसित किया है जो लोगों में जोड़ों के दर्द की बीमारी को दूर करने में सहायक साबित होगा। इसकी तकनीक मुंबई आधारित फार्मा कंपनी को दी गई है।

आइआइआइएम जम्मू काउंसिल आफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च के तहत काम करती है, कहा है कि कैप्सूल आइआइआएम- 160-एसआर तैयार किया है। यह औषधीय पौधा हिमालयन क्षेत्र में जम्मू कश्मीर से भूटान तक पाया जाता है। इसके पेटेंट के लिए भारत, अमेरिका, कनाडा और यूरोप में आवेदन किया गया है। आइआइआइएम औषधीय पौधों पर लगातार काम कर रहा है और इंस्टीट्यूट ने कई उत्पादों का पेटेंट करवाया है।

इस कैप्सूल का मुख्य काम मरीजों में जोड़ों के दर्द से राहत दिलाना होगा। इंस्टीट्यूट ने यह लाइसेंस वीरीदिस बायोफार्मा प्राइवेट लिमिटेड को दिया है, जो मुंबई की कंपनी है। भारत और विदेश में इसकी बिक्री की जाएगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

गोरखपुर

डॉ. राजेश कुमार यादव के दिशानिर्देश में पूजा सिंह , चांदनी सिंह , और सुरभि चौबे ने पीएचडी कार्य पूर्ण किया, जाने किसको मिली उपाधि ?

डॉ राजेश कुमार यादव (एसोसिएट प्रोफेसर एंड हेड, रसायन एवं पर्यावरण विज्ञान विभाग, मदन मोहन मालवीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, गोरखपुर) के मार्गदर्शन में चांदनी सिंह, सुरभि

Latest News : कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा में लगी आस्था की डुबकियां और मनाया देव दीपावली, जाने 1 रोचक तत्व की क्यों मनाई जाती है देव दीपावली?

Latest News : कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा में लगी आस्था की डुबकियां और मनाया देव दीपावली, जाने 1 रोचक तत्व की क्यों मनाई जाती है देव दीपावली?

Latest News : कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान व देव दीपावली के उपलक्ष्य में आज घाट कला कोठी प्राचीन श्री हनुमानजी मंदिर पर 5001 दीपदान और

The foundation stone of Veda Pathshala and Gaushala, laid in Malihabad, Lucknow, will be cherished by the youth of religion and culture.

Latest News : Lucknow के मलिहाबाद में रखी गई वेद पाठशाला और गौशाला का आधारशिला, धर्म और संस्कृति को युवाओं को सँजोना होगा

Lucknow मलिहाबाद के जेहटा काकोरी में 100 वर्ष प्राचीन श्री ठाकुर जी महाराज मंदिर के तत्वाधान में श्री विश्वनाथ गौशाला एवं वेद पाठशाला की आधारशिला

देवरिया

कुशीनगर