सीएम योगी ने बनाया परिषदीय स्कूलों के बच्‍चों को अच्‍छी ड्रेस दिलाने का प्‍लान, अब सीधे खाते में जाएगी रकम

उत्‍तर प्रदेश सरकार परिषदीय स्कूलों के छात्रों के खाते में स्कूल ड्रेस की कीमत भेजने की योजना बना रही है। ताकि छात्र अपने मुताबिक स्कूल ड्रेस खरीद सके। चैंबर आफ इंडस्ट्रीज के पूर्व अध्यक्ष एवं उद्यमी एसके अग्रवाल ने बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गोरक्षपीठाधीश्वर कक्ष में मुलाकात के बाद दी। अग्रवाल बुधवार की सुबह विभिन्न मांगों को लेकर गोरखनाथ मंदिर में सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलने पहुंचे थे। 

एसके अग्रवाल ने एक जिला एक उत्पाद (ओडीओपी) में शामिल किए गए रेडीमेड गारमेंट को बढ़ावा देने के लिए स्कूल ड्रेस की खरीद स्थानीय उद्यमियों से कराए जाने की मांग की। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार अब छात्रों को स्कूल ड्रेस सिला कर देने की बजाय उनके खाते में आनलाइन धन उपलब्ध कराने की तैयारी कर रही है, ताकि वे अपनी सुविधानुसार स्कूल ड्रेस खरीद सकें। अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को बताया कि सरकारी खरीद में सारी शर्ते पूरी करने के बाद भी कई औद्योगिक इकाइयां इसलिए पिछड़ जाती हैं कि क्योंकि उनके पास अनुभव नहीं होता। मुख्यमंत्री योगी ने पिछले परफार्मेंस यानी अनुभव की शर्त हटाने का आश्वासन भी दिया। अग्रवाल ने गोरखपुर औद्योगिक विकास प्राधिकरण (गीडा) में गारमेंट पार्क की स्थापना एवं फ्लैटेड शेड बनाने, गोरखनाथ क्षेत्र में इंडस्ट्रियल इस्टेट एवं इंडस्ट्रियल एरिया में फ्लैटेड फैक्ट्री कांप्लेक्स बनाने, भारत सरकार की ओर से प्रस्तावित तकनीकी केंद्र के लिए यूपी हैंडलूम की भूमि एवं भवन उपलब्ध कराने की मांग भी रखा। कहा कि इससे स्किल डेवलपमेंट एवं डिजाइन डेवलपमेंट के लिए उद्यमियों को प्रशिक्षित किया जा सकेगा।

औद्योगिक नीति 2017 में सुधार की मांग
एसके अग्रवाल ने औद्योगिक नीति 2017 में तकनीकी सुधार की मांग की। ताकि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (एमएसएमई) को इसका लाभ मिल सके। कैपिटल सब्सिडी एवं ब्याज में छूट के लिए अलग से प्रावधान करने की जरूरत बताई। कहा कि कई इकाइयों को 4 साल बाद भी इस नीति का लाभ नहीं मिल पाया है।

Source

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram